Valuable QuestionCategory: सामान्य ज्ञाननीचे अच्छी घास होने की बाद भी बकरियां क्यों ऊँचाई की सूखी विरल घास खाना पसंद करती है?
Jaydip asked 2 weeks ago

Why do goats prefer to eat dry sparse grass even after having a good grass down?

1 Answers
Jaydip answered 2 weeks ago

बकरियों को खाने के दौरान सावधानीपूर्वक अपने चारे का चयन करने की आदत होती है और उन्हें फुर्तीली फीडर माना जाता है। बकरियां लगातार खाने की खोज करती रहती हैं और जब वे भिन्न भिन्न पेड़ों, झाड़ियों और घासों को खाती है तो वे अधिक संतुष्ट होती है।
————–
बकरियों के छोटे मुंह और विभाजित ऊपरी होंठ की रचनात्मक विशेषताओं के कारण यह उन्हें पौधे के बहुत छोटे हिस्सों का चयन करने में सक्षम बनाती हैं।
—————
सामान्यतः बकरियां पौधे के ऊपरी हिस्सो को अपना चारा बनाती हैं क्योंकि ये परजीवीयों(parasites) के लिए बहुत संवेदनशील होती हैं जो जमीन के पास बहुतायत होते हैं , इसलिए वो जहां तक संभव हो पौधे के ऊपरी हिस्से से चारा लेती है, लगभग जमीन से 2 से 4 इंच ऊपर।
—————
इसके अलावा बकरियां अपने स्वादानुसार टैनिन युक्त पौधे के हिस्सों का चयन करती हैं जो खट्टा व स्वादिष्ट होता हैं व पौधे या झाड़ी के ऊपरी हिस्से कि पत्तों या टहनी में मिलता हैं, इसलिए वे अपने पिछले पैरों पर खड़े होकर व आगे फैलकर ऊपरी हिस्से कि पत्तों को खाती हैं।
—————–
तीसरा , बकरियां अक्सर खाने के लिए चुनिंदा व ऊपरी ताजी पत्तियों पर ध्यान केंद्रित करती हैं क्योंकि बकरी अपने पाचन के लिए प्रथम अमाश्य (Rumen) का उपयोग करती है जो कम प्रोटीन सामग्री को ही पचा पाते हैं ; वे प्रोटीन के उच्च स्तर को सुरक्षित रूप से पच नहीं सकते हैं। ये लाइव बैक्टीरिया का उपयोग करके अपना खाना पचाती हैं। लाइव बैक्टीरिया और लंबे फाइबर से रूमेन कार्य करता और बकरी के शरीर का तापमान सामान्य सीमा में रहता है। ज्यादा प्रोटीनयुक्त चारा उनमें गर्मी पैदा करता है व पेट संबंधी बीमारियां भी हो सकती है। प्रोटीन, विटामिन, खनिज, और नाइट्रोजन के गलत स्तर से बकरियो में पाचन व प्रजनन सबंधी बीमारियां हो सकती है।