Valuable QuestionCategory: सामान्य ज्ञानक्या भारत संस्कृति और टेक्नोलॉजी को एक साथ लेकर आगे बढ़ रहा है?
jaydip asked 7 months ago

Is India moving forward with culture and technology together?

1 Answers
Jaydip answered 7 months ago

ऐसा लगता तो नहीं, आज का समय देखकर ! भारत में तेजी से टेक्नोलॉजी का विकास हो रहा है और आम आदमी की पहुंच भी टेक्नोलॉजी तक बनी है। स्मार्टफोन ,कम्पयूटर सब बड़े स्तर पर हमारे जीवन के हिस्से बन चुके हैं। जूतों तक में टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल होने लगा है। लेकिन जब सवाल संस्कृति का आता है,तो लगता है कि भारत अपनी विरासत,संस्कार और संस्कृति को संरक्षित नहीं रख पा रहा है। और ये एक जिम्मेवार नागरिक होने के नाते हम सब की बड़ी असफलता है।
——————
वर्तमान मे टेक्नोलॉजी ने हमारी जिन्दगी पर इस तरह कब्जा कर लिया की मोबाइल,कम्प्यूटर के बिना एक पल भी रहना मुश्किल हैं। लोगों के रिश्तों में इसके कारण बडा बदलाव आया है। आज कल सारे रिश्ते सिमट कर वाट्सअप तक ही सीमित रह गये हैं। बच्चे अनेकों गेम्स के नाम बता सकते हैं लेकिन उन से अगर कुछ स्वतंत्रता सेनानियों के विषय में या संस्कृति से जुड़ा कोई सवाल पूछा जाये तो शायद वो जवाब देने में नाकाम रहेंगे। उन्हें नहीं पता कि गुरू का सम्मान क्यों करना चाहिए? और न ही शिक्षकों को पता है कि बच्चों को क्या दिशा देनी है। आज की नारी छोटे कपड़े पहने को आधुनिकता समझती हैं। वो नशे करती है क्योंकि कि उन्हें लगता है कि वो नारीवादी हैं । लोग त्योहारों को सिर्फ वाट्सअप पर मुबारको के मैसेज भेज कर मना रहें हैं। लड़कियों को लगता है की उनकी माँ साड़ी,सूट सलवार पहनती हैं क्योंकि वो आधुनिक नहीं है। मोबाइल ही सब कुछ हो गया है,लोग मोबाइलों मे घुसे रहते हैं और वोहि उनकी दुनिया बन गया है। संस्कृति शब्द उनके लिए अब बस एक पिछड़ापन का संकेतक है और इस सब के जिम्मेवार हम लोग है।
—————
* आधुनिकता मनुष्य के शरीर पर कपड़े लेकर आई ,उन्हें उतारने नहीं
* मशीनों के साथ रहते रहते हम उनके गुलाम बनते जा रहें है।हम इंसान हैं,कठपुतलियाँ नहीं।